• +91 9971497814
  • info@interviewmaterial.com

Chapter 8- त्रिकोणमिति का परिचय (Introduction to Trigonometry) Ex-8.2 Interview Questions Answers

Question 1 : निम्नलिखित के मान निकालिएः

Answer 1 :

Question 2 : सही विकल्प चुनिए और अपने विकल्प का औचित्य दीजिए :

Answer 2 :


Question 3 :  यदि tan (A + B) = √3 और tan (A B) =  ; 0° < A + B ≤ 90°; A > B तो A और B का मान ज्ञात कीजिए।

Answer 3 :

तालिका से, हमें प्राप्त होता है:
tan 60° = √3 …(1)
चूंकि tan (A + B) = √3 [ज्ञात है] …(2)
(1) और (2) से, हमें प्राप्त होता है।
A + B = 60° ………(3)
इसी प्रकार,
A B = 30° ………. (4)
(3) और (4) को जोड़ने पर, 2A = 90° ⇒ A = 45°
(3) में से (4) को घटाने पर, 2B = 30° ⇒ B = 15°

Question 4 :
बताइए कि निम्नलिखित में कौनकौन सत्य हैं या असत्य हैं। कारण सहित अपने उत्तर की पुष्टि कीजिए।
(i) sin (A + B) = sin A + sin B.
(ii) θ में वृद्धि होने के साथ sin θ के मान में भी वृद्धि होती है।
(iii) θ में वृद्धि होने के साथ cos θ के मान में भी वृद्धि होती है।
(iv) θ के सभी मानों पर sin θ = cos θ
(v) A = 0° पर cot A परिभाषित नहीं है।

Answer 4 :

(i) माना
A = 30°
और B = 60°
L.H.S. = sin (30° + 60°) = sin 90° = 1
R.H.S. = sin 30° + sin 60° = 

L.H.S. ≠ R.H.S.
कथन “sin (A+ B) = sin A + sin B” असत्य है।
(ii)
चूँकिजब θ का मानसे 90° तक बढ़ता है तो sin θ का मान 0 से 1 तक बढ़ता है।
दिया गया कथन सही है।
(iii)
चूँकिजब θ का मापसे 90° तक बढ़ता है, तो cos θ का मान 1 से 0 तक घटता है।
दिया गया कथन असत्य है।
(iv)
माना θ = 30° है।
तालिका से हमें प्राप्त होता है: sin 30° = और cos 30°= 

sin 30° ≠ cos 30°
अतः दिया गया कथन असत्य है।
(v)
तालिका से हमें प्राप्त है: cot 0° = अपरिभाषित
अतः दिया गया कथन सत्य है।


Selected

 

Chapter 8- त्रिकोणमिति का परिचय (Introduction to Trigonometry) Ex-8.2 Contributors

krishan

Share your email for latest updates

Name:
Email:

Our partners