• +91 9971497814
  • info@interviewmaterial.com

Chapter 5- प्राथमिक क्रियाएँ (Primary Activities) Interview Questions Answers

Question 1 :
नीचे दिए गए चार विकल्पों में से सही उत्तर चुनिए
(i) निम्न में से कौन-सी रोपण फसल नहीं है
(क) कॉफी
(ख) गन्ना
(ग) गेहूँ
(घ) रबड़।

(ii) निम्न देशों में से किस देश में सहकारी कृषि का सफल परीक्षण किया गया है
(क) रूस
(ख) डेनमार्क
(ग) भारत
(घ) नीदरलैण्ड।
 
(iii) फूलों की कृषि कहलाती है
(क) ट्रक फार्मिंग
(ख) कारखाना कृषि
(ग) मिश्रित कृषि
(घ) पुष्पोत्पादन।

(iv) निम्न में से कौन-सी कृषि के प्रकार का विकास यूरोपीय औपनिवेशिक समूहों द्वारा किया गया
(क) कोलखहोज
(ख) अंगूरोत्पादन
(ग) मिश्रित कृषि
(घ) रोपण कृषि।

(v) निम्न प्रदेशों में से किसमें विस्तृत वाणिज्य अनाज कृषि नहीं की जाती है
(क) अमेरिका एवं कनाडा के प्रेयरी क्षेत्र
(ख) अर्जेण्टीना के पम्पास क्षेत्र
(ग) यूरोपीय स्टैपीज क्षेत्र
(घ) अमेजन बेसिन।
 
(vi) निम्न में से किस प्रकार की कृषि में खट्टे रसदार फलों की कृषि की जाती है
(क) बाजारीय सब्जी कृषि
(ख) भूमध्यसागरीय कृषि
(ग) रोपण कृषि
(घ) सहकारी कृषि।

(vii) निम्न कृषि के प्रकारों में से कौन-सा प्रकार कर्तन-दहन कृषि का प्रकार है
(क) विस्तृत जीवन निर्वाह कृषि
(ख) आदिकालीन निर्वाहक कृषि
(ग) विस्तृत वाणिज्य अनाज कृषि
(घ) मिश्रित कृषि।

(viii) निम्न में से कौन-सी एकल कृषि नहीं है
(क) डेयरी कृषि
(ख) मिश्रित कृषि
(ग) रोपण कृषि
(घ) वाणिज्य अनाज कृषि।

Answer 1 :

(i) (ग) गेहूँ।
(ii) (ख) डेनमार्क।
(iii) (घ) पुष्पोत्पादन।
(iv) (घ) रोपण कृषि।
(v) (घ) अमेजन बेसिन।
(vi) (ख) भूमध्यसागरीय कृषि।
(vii) (ख) आदिकालीन निर्वाहक कृषि।
(viii) (क) डेयरी कृषि।

Question 2 : स्थानान्तरी कृषि का भविष्य अच्छा नहीं है। विवेचना कीजिए।

Answer 2 :

स्थानान्तरी कृषि आदिम जातियों द्वारा पुरातन ढंग से की जाती है जिसमें प्रति व्यक्ति व प्रति हेक्टेयर उत्पादन कम होता है। कम वहन क्षमता के कारण स्थानान्तरी कृषकों को खाद्यान्न की समस्या रहती है जिससे इनकी संख्या घट रही है। जिन जंगलों को जलाकर कृषि भूमि तैयार की जाती थी, वे भी सिकुड़ रहे हैं। अनेक सरकारें स्थानान्तरी कृषि से जुड़े कबीलियाई लोगों को स्थायी रूप से बसाने के प्रयास कर रही हैं। इससे भी इस प्रकार की कृषि कम हो रही है। इन कारणों से स्पष्ट है कि स्थानान्तरी कृषि का भविष्य अच्छा नहीं है।

Question 3 : बाजारीय सब्जी कृषि नगरीय क्षेत्रों के समीप ही क्यों की जाती है?

Answer 3 :

बाजारीय सब्जी कृषि को ‘ट्रक कृषि’ भी कहते हैं। इसके नगरीय क्षेत्रों के समीप किए जाने के कारण निम्नलिखित हैं

  1. नगरीय क्षेत्रों में जनसंख्या की अधिकता के कारण सब्जी की माँग अधिक होती है और वृहद् बाजार उपलब्ध होता है।
  2. इन क्षेत्रों में परिवहन की सुविधा के कारण सब्जियाँ आसानी से खपत केन्द्रों पर भेजी जा सकती हैं।
  3. पूर्ति की तुलना में माँग की अधिकता के कारण सब्जी की कीमत उच्च होती है।

Question 4 : विस्तृत पैमाने पर डेयरी कृषि का विकास यातायात के साधनों एवं प्रशीतकों के विकास के बाद ही क्यों सम्भव हो सका है?

Answer 4 :

डेयरी कृषि के मुख्य उत्पाद दूध और दुग्ध पदार्थ होते हैं जो शीघ्र ही खराब होने वाली वस्तुएँ हैं। इसे उपभोक्ता तक पहुँचाने के लिए आवश्यक है कि यातायात के साधन तीव्र और सक्षम हों और इन वस्तुओं को कुछ देर तक बचाए रखने के लिए प्रशीतन प्रणाली विकसित हो। इसी कारण यातायात के साधनों और प्रशीतकों के विकास के बाद ही डेयरी कृषि का विस्तृत पैमाने पर विकास सम्भव हो पाया।

Question 5 : चलवासी पशुचारण और वाणिज्य पशुधन पालन में अन्तर कीजिए।

Answer 5 :

चलवासी पशुचारण और वाणिज्य पशुधन पालन में अन्तर

Question 6 : रोपण कृषि की मुख्य विशेषताएँ बताइए एवं भिन्न-भिन्न देशों में उगाई जाने वाली कुछ प्रमुख रोपण फसलों के नाम बताइए।

Answer 6 :

रोपण कृषि की विशेषताएँ/गुण/लक्षण रोपण कृषि की प्रमुख विशेषताएँ/गुण/लक्षण निम्नलिखित हैं

  1. रोपण कृषि बड़े-बड़े आकार के फार्मों पर की जाती है।
  2. इस कृषि में अधिक पूँजी निवेश, उच्च प्रबन्धन एवं वैज्ञानिक तकनीकियों का प्रयोग किया जाता है।
  3. इस कृषि से उत्पादित अधिकांश भाग निर्यात कर दिया जाता है।
  4. इस प्रकार की कृषि में एक फसल के उत्पादन पर ही अधिक जोर दिया जाता है।
  5. इस कृषि में वैज्ञानिक विधियों, मशीनों, उर्वरक आदि का प्रयोग होता है।
  6. इस कृषि में कुशल श्रमिक कार्य करते हैं। ये श्रमिक स्थानीय होते हैं। कुछ प्रदेशों में दास श्रमिक भी कार्य करते हैं।
  7. बाजारों एवं कृषि बागानों को सुचारु रूप से जोड़ने के लिए कुशल व सस्ते परिवहन का प्रयोग किया जाता है।
  8. यह लाभ प्राप्त करने वाली वृहद् उत्पादन प्रणाली है जिसका विकास यूरोपीय लोगों द्वारा विश्व के अनेक औपनिवेशिक देशों में किया गया है।
  9. यह कृषि मुख्य रूप से उष्ण कटिबन्धीय क्षेत्रों में की जाती है।
विभिन्न देशों में उगाई जाने वाली प्रमुख रोपण फसलें

क्र०सं०

देश का नाम

प्रमुख रोपण फसल

1.

भारत

चाय

2.

श्रीलंका

चाय

3.

मलयेशिया

रबड़

4.

ब्राजील

कॉफी

5.

पश्चिमी द्वीप समूह

गन्ना एवं केला

6.

पश्चिमी अफ्रीका

कॉफी एवं कोको

7.

फिलीपीन्स

नारियल गन्ना



Selected

 

Chapter 5- प्राथमिक क्रियाएँ (Primary Activities) Contributors

krishan

Share your email for latest updates

Name:
Email:

Our partners