• +91 9971497814
  • info@interviewmaterial.com

Chapter 15- अब कहाँ दूसरे के दुख से दुखी होने वाले Interview Questions Answers

Question 1 :
बड़े-बड़े बिल्डर समुद्र को पीछे क्यों धकेल रहे थे?

Answer 1 :

बड़े-बड़े बिल्डर समुद्र को इसलिए धकेल रहे थे कि ताकि वे समुद्र के किनारे की जमीन पर कब्ज़ा कर सकें और उस पर बड़ी-बड़ी इमारतें खड़ीकर लोगों को बसा सकें। ऐसा करके वे पैसा कमाना चाहते थे।

Question 2 :
लेखक का घर किस शहर में था?

Answer 2 :

लेखक का घर पहले ग्वालियर में था परंतु बाद में वह मुंबई के वर्सावा में रहने लगा।

Question 3 :
जीवन कैसे घरों में सिमटने लगी है?

Answer 3 :

पहले जनसंख्या कम थी। लोगों के हिस्से में जमीन अधिक थी। वे बड़े-बड़े घरों और खुले में रहते थे। घर की तरह ही उनका दिल भी बड़ा हुआ करता था, परंतु जनसंख्या बढ़ने के साथ ही वे छोटे-छोटे घरों में रहने को विवश हो गए।

Question 4 :
कबूतर परेशानी में इधर-उधर क्यों फड़फड़ा रहे थे?

Answer 4 :

कबूतर के जोड़े ने रोशनदान में दो अंडे दिए थे। उनमें से एक को बिल्ली ने फोड़ दिया और दूसरा सँभाल कर रखते हुए माँ से फूट गया। अपने अंडे फूटने से दुखी होने से कबूतर फड़फड़ा रहे थे।

Question 5 :
अरब में लशकर को नूह के नाम से क्यों याद करते हैं?

Answer 5 :

अरब में नूह नाम के एक पैगंबर थे जिनका असली नाम लशकर था। वे अत्यंत दयालु और संवेदनशील थे। एक बार एक कुत्ते को उन्होंने दुत्कार दिया। उस कुत्ते का जवाब सुनकर वे बहुत दुखी हुए और उम्र भर पश्चाताप करते रहे। अपने करुणा भाव के कारण ही वे ‘नूह’ के नाम से याद किए जाते हैं।

Question 6 :
लेखक की माँ किस समय पेड़ों के पत्ते तोड़ने के लिए मना करती थीं और क्यों?

Answer 6 :

लेखक की माँ पशु-पक्षियों के प्रति ही नहीं पेड़-पौधों के प्रति भी संवेदनशील थीं। वे सूरज छिपने के बाद पेड़ों के पत्ते तोड़ने से मना करती थी। उनका मानना था कि ऐसा करने पर पेड़ों को दुख होगा और वे रोते हुए बद्दुआ देते हैं।

Question 7 :
प्रकृति में आए असंतुलन को क्या परिणाम हुआ?

Answer 7 :

Question 8 :
लेखक की माँ ने पूरे दिन का रोज़ा क्यों रखा?

Answer 8 :

लेखक की माँ धार्मिक विचारों वाली महिला थी। वे मनुष्य से ही नहीं पशु-पक्षियों तक से प्रेम करती थीं। उनके घर की दालान में कबूतर ने दो अंडे दिए थे। उनमें से एक अंडा बिल्ली ने गिराकर फोड़ दिया था। दूसरा अंडा सँभालते समय उनके हाथ से टूट गया। अंडा टूटने का पछतावा करने के लिए उन्होंने पूरे दिन का रोज़ा रखा।

Question 9 :
लेखक ने ग्वालियर से बंबई तक किन बदलावों को महसूस किया? पाठ के आधार पर स्पष्ट कीजिए।

Answer 9 :

Question 10 :
डेरा डालने से आप क्या समझते हैं? स्पष्ट कीजिए।

Answer 10 :

डेरा डालने का आशय है-अपने रहने की व्यवस्था करना। जिस तरह मनुष्य जब कहीं बाहर जाता है तो अपने रहने का ठिकाना बनाता है। इसी प्रकार पक्षी भी रहने और अंडे देने तथा बच्चों की देखभाल के लिए डेरा डालते हैं।


Selected

 

Chapter 15- अब कहाँ दूसरे के दुख से दुखी होने वाले Contributors

krishan

Share your email for latest updates

Name:
Email:

Our partners