• +91 9971497814
  • info@interviewmaterial.com

Chapter 13- त्रिभुज Ex-13-c Interview Questions Answers

Question 1 : चित्र में, दो त्रिभुज आपस में सर्वांगसम हैं, उन्हें छाँटकर सांकेतिक भाषा में लिखिए।

Answer 1 :

ΔABC तथा ΔHIJ में,
भुजा AB = भुजा HI = 2 सेमी
भुजा AC = भुजा HJ = 3 सेमी
∠CAB = ∠JHI = 30°
अतः ΔABC = ΔHIJ
पुनः ΔRPQ, ΔGEF तथा ΔMKL में
RQ = GF = ML = 3 सेमी
QP = FE = LK = 2 सेमी ।
∠RPQ = ∠GEF = ∠MKL
ΔPRQ = ΔGEF = ΔMKL

Question 2 : एक त्रिभुज ΔABC की रचना कीजिए, जिसमें AB = 6 सेमी, AC = 6 सेमी और ∠A = 90°, त्रिभुज XYZ की रचना कीजिए जिसमें XY = 6 सेमी, ∠X = 90° और ∠Y = 45° क्या दोनों त्रिभुज सर्वांगसम हैं?

Answer 2 :

रचना – 6 सेमी लम्बाई का रेखाखण्ड AB खींचा। बिन्दु A पर चाँदा की। सहायता से 90° कोण बनाती हुई 6 सेमी लम्बाई का रेखाखण्ड AC खींचा।
बिन्दु C और B को मिलाया। ΔABC अभीष्ट त्रिभुज है।
रचना – 6 सेमी लम्बाई का रेखाखण्ड XY खींचा। बिन्दु X पर चॉदा की सहायता से 90° कोण बनाती हुई एक रेखा खींची और बिन्दु Y पर चॉदा की सहायता से 45° कोण बनाती हुई एक रेखा खींची।
जो बिन्दु Z पर मिलती हैं।
ΔXYZ अभीष्ट त्रिभुज है।
ΔABC तथा ΔXYZ में
CA = ZX = 6 सेमी
AB = XY = 6 सेमी
∠CAB = ∠ZXY = 90°
∠ABC = ∠XYZ = 45°
ΔABC = ΔXYZ

Question 3 : पाश्वकित चित्र में, AB = AC और ∠DAB = ∠CAD, तो क्या ΔACD और ΔABD सर्वांगसम हैं? यदि हैं तो क्यों?

Answer 3 :

ΔACD तथा ΔABD में,
AC = AB
∠CAD = ∠DAB
तथा AD उभयनिष्ठ है। (SAS)
ΔACD = ΔABD
क्योंकि जिस त्रिभुज की दो भुजा और उनके बीच का कोण दूसरे त्रिभुज के दो भुजाओं और उनके बीच के कोण के अलग-अलग बराबर होते हैं, वे त्रिभुज सर्वांगसम होते हैं।

Question 4 : त्रिभुज ΔABC की रचना कीजिये जबकि AC = 4.5 सेमी, BC = 6 सेमी तथा ∠C = 60°

Answer 4 :

दिया है- ΔABC की भुजा
AC = 4.5 सेमी
BC = 6 सेमी
तथा ∠C = 60°
रचना करनी है- ΔABC की
रचना-
1. सर्वप्रथम रेखाखण्ड BC = 6 सेमी खींचा।
2. बिन्दु C पर पटरी व परकार की सहायता से 60° का कोण बनाती हुई रेखा BY खींची।
3. रेखा BY रेखाखण्ड AC = 4.5 सेमी की दूरी पर चिह्न A लगाया।
4. A से B को मिलाया।
5. यही ΔABC अभीष्ट त्रिभुज है।


Selected

 

Chapter 13- त्रिभुज Ex-13-c Contributors

krishan

Share your email for latest updates

Name:
Email:

Our partners